अतीत

अतीत से जुड़ा हुआ
पाप् जो किया तूने
पश्यताप की आग में
आग में भुनेगा वो तुझे
आग की बरसात में
वो अंधेरी रात में
मर रहा था वो जान
उसपर भी ना दिया तूने ध्यान
मार दिया तूने उसे
कुछ रुपये के जाल में
जल रहा वो दिल तेरा
पश्यताप की आग में
अब पता चलेगा तुझे
त्याग के दायरे
जब सिखाएगी ये प्रकृति
अपने कायदे।

Fable myths

मैंने बस एक सोच को शब्द का रूप दिया है।
इसमें मैने लिखा है कि एक डॉक्टर ने पैसे की कमी के कारण
एक बीमार बच्चे की माँ को उसके उपचार की लिए मना कर दिया।
अब प्रकृति उसे उसके किये पर उसे दंड देगी तथा उसे त्याग का मतलब समझाएगी।

Also Read… स्त्रीत्यागशांति, अतीत

Leave a Reply

%d bloggers like this: