‘इंसान और धर्म’

Pic Credit: Google

मज़हबी ठेकेदारों ने बड़ा बवाल मचा रखा है
धर्म को धर्म नहीं,इल्जाम बना रखा है ।

न इंसान पैदा होते,न इंसानियत जन्म लेती अब
इंसान को हिन्दू और मुसलमान बना रखा है ।

भक्ति,आस्था,अध्यात्म कोई नहीं जानता यहाँ
बस दिखाने को पूजा और अजान बना रखा है ।

असल में बिरले ही मर्म समझते इनका
उनके लिए ही गीता और कुर-आन बना रखा है ।

बेवजह ही पत्थर पूजता है इंसान पत्थर दिल खुद है

फिर भी पूजने को धाम बना रखा है ।



written by:- sapan agrawal.

Authors

Leave a Reply

%d bloggers like this: