Writer's Special

इतने सवाल क्यूं है 

0 0
Read Time:55 Second

इतने सवाल क्यूं है 

हर शख़्स इतना
कमज़ोर क्यूं है

जीवन जब वरदान है फिर 

झुल फंदें में

खुद के हत्या का अपराधी खुद ही क्यूं है

मोहबत के इस जहां में

झुलसे  नफरत में हर शख़्स  क्यूं है

जलाते जब हर वर्ष रावण धूमधाम से 

फिर इतने हैवान क्यूं है 

लबों पे मर्यादा पुरुषोत्तम राम राम 

फिर होता इतना नारी का शोषण क्यूं

पढ़ते  पवित्र क़ुरान, गीता ,रामायण बाइबल

फिर मजहब के लिए लहूलुहान क्यूं है

मिट्टी में ही मिलना है एक दिन सब को

फिर इतने अहंकार क्यूं है?

क्यूं है

कुणाल कंठ 

Instagram
@kunal_ki_kavita214

 

Entry No. THG021

Date 29-10-2020

Also, Read… News, एक गुजारिशअतीतत्याग

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

%d bloggers like this: