इश्क़

इश्क तो सब करते हैं
हमने इबादत कर ली।
दिलों के बिखरे जज़्बातों को
संवारने की आदत कर ली
आगाज़,अल्फाज़,अक़्स,अना लिए
ख़्वाबों में ही मिलने की तैयारी कर ली।
इश्क़ कमबख़्त रुलाता बहुत है
बिना इज़हार ही जीने की समझदारी कर ली।

इश्क़

– शिवानी त्रिपाठी ‘सोना’

 

Entry No. THG010

Date: 20th Oct 2020

Also, Read… NewsLifeUnless It’s You & Me

Leave a Reply

%d bloggers like this: