उम्मीद है

उम्मीद हैं

उम्मीद हैं एक नये सवेरे की,
उम्मीद-हैं एक नये उजाले की ।

उम्मीद-हैं हौसलों की उड़ान की,
उम्मीद-हैं एक नये रुझान की ।

उम्मीद हैं नाउम्मीदी से लड़ने की,
उम्मीद हैं निरंतर आगे बढ़ने की ।

उम्मीद हैं इस सैलाब के रुकने की,
उम्मीद है मुश्किलें पार करने की ।

उम्मीद हैं इस घोर अंधियारे के ख़ात्मे की,
उम्मीद हैं आशाओं के चिराग़ की रोशनी की ।

उम्मीद है,
इन उम्मीदों, के मुकम्मल होने की ।

-aayushiee

 

https://thehindiguruji.com/category/contents/poetry/hindi/

https://gurujiblog.com/

Authors

Leave a Reply

%d bloggers like this: