चाहे जो भी है तू…

Pic Credit: Google
चाहे जो भी है 
मेरा प्यार है तू
आँगन में चहकती चिड़िया है तू
बागों में महकती कालिया है तू
समुन्दर की उठती लहर है तू
लहरों की कतार है तू
मेरा यार है तू
जो भी है मेरा प्यार है तू ।
मेरी रातों का महताब है तू 
मेरी सुबह का आफताब है तू
बादल से बरास्ता नीर है तू
पूजूं तुझे मेरा पीर है तू 
कश्ती में पतबार है तू
मेरा यार है तू
जो भी है मेरा प्यार है तू ।
अपने पिता की मुस्कान है तू
अपनी माँ का सारा जहां है तू
अच्छा सुन, मेरी जान है तू ।
हाथों का कंगन है तू
माथे प' चमकता चन्दन है तू।
मेरे हाथों की लकीर है तू
रहमत खुदा की औ' तकदीर है तू
मेरे लबों का रसपान है तू
अच्छा सुन, मेरी जान है तू।।

©piyu_agrawal

Authors

Leave a Reply

%d bloggers like this: