जब तुम इशारे से चाँद दिखाओगे

जब तुम इशारे से चाँद दिखाओगे
मैं तुम्हारी अँगुलियों को देखूँगा

जब तुम पिछले रातों के ख़्वाब सुनाओगे
मैं तुम्हारी आँखों को देखूँगा

जब तुम बताओगे, कल शाम बादल का क्या शेड था
मैं तुम्हारे होंठों की ओर देखूँगा

ओर इस तरह आँखों ही आँखों मे
कुदरत से बगावत कर लूँगा ।

🍁सखा

Insta : sakhaquotes
जोधपुर राजस्थान

Post No. THG004

भगवान मुझे फिर से धरती पर जाने देना..Click Here for Read

Authors

Leave a Reply

%d bloggers like this: