Hindi Poetry

मंजिल एक रास्ते अनेक…

0 0
Read Time:41 Second
Image Source: Google

मंज़िल एक रास्ते अनेक
गुजरना है या गुजर जाना है

रिश्ता एक अंजाम अनेक
निभाना है या निकल जाना है

दोस्त एक दुश्मन अनेक
डरना है या डरा जाना है

परिवार एक रिश्तेदार अनेक
सुन्ना है या सुना जाना है

प्यार एक धोके अनेक
जीना है या मर जाना है

मजिल एक रास्ते अनेक
तुझे चलना है आगे बढ जाना है

Written by :-नितिन मंगल ( रूहानी मोहब्बतें)

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

%d bloggers like this: