वक्त…

वक्त था,वक्त है पर वक्त बदल गये,
अक्स था,अश्क है,आइने बदल गये,
यू तो रांझा हूँ मैं भी किसी हीर का,
ख़्वाब थे,जज़्बात है,ज़नाजे से उनके,मेरे
जन्नत बदल गये।
-उज्ज्वल शुक्ला

Authors

Leave a Reply

%d bloggers like this: