सपने की हद

सपने की हद

 

सपने की हद ,सपने में तब तक होती है

 

जब तक इसकी नींव अपने आज में न हो

 

अगर उस सपने की हद पार कर जाये तो

 

वह सपना नही, अपना आज बन जायेगा

 

 

©Anant_vishv_

https://thehindiguruji.com/category/blog/

Leave a Reply

%d bloggers like this: