Way of Thinking

Way of thinking

Thought of the miracle won’t do for you,
Thought of the hard work is all about you
Way of thinking makes a difference,
The confidence in you is the only sixth sense’

A thought of easy-going won’t go with your fame,
A thought of struggle will cure every tame
Way of thinking makes a difference,
The confidence in you is the only sixth sense’

Thought of taking is not the worth doing of you,
Thought of giving is the art of the real person in you
Way of thinking makes a difference,
The confidence in you is the only sixth sense’

A thought of atheist will never help you on the land,
Thought of the spiritual will get you the pace in the heaven world.
Way of thinking makes a difference,
The confidence in you is the only sixth sense’

Insta- @kabiryashhh

The Man in a Cage

News Updates

The Man in a Cage

The Man in a Cage

The Man in a Cage

Sitting in here, I wonder.
Feeling the stare at me, I shudder.
Why the monkey is laughing at me.
Is that because I am clogged, & he is free?
I look at another side.
There, some bears were having laughter tide.
Birds were also laughing & chirping.
Child animals were being taught about me while snuggling.
There were being all around me.
But still, I was the only one with me.
I wanted to come out but couldn’t, so only throbbing.
Deep down my heart was envying them, & sobbing.
I was missing my family, my heart was agonizing for them.
I was their only elm.
I don’t know how I ended up in a cage.
With each passing second I fume in rage.
I just couldn’t understand what was happening or what to do.
Just then I read the board at the end, which says Welcome to the Human Zoo.

– Anshul Jain –

The Man in a Cage

My Motherland

News Updates

जातिवाद

जातिवाद

जातिवाद

बाँटते-बाँटते इतना बंट गए,
अब और कितना बांटोगे।
बीज लगाकर बबूल का
आम तो नहीं काटोगे।

इस रूढ़िवादी ने,
कितने का घर बर्बाद किया।
ऊंच-नीच, जात-पात कहकर
जीवन नरक वास किया।

नमक की बात है क्या?
पानी को भी तरसाता है।
औकात में रहकर बात कर
हर बात पे, जताता है।

आज़ाद भी है, कानून भी है
फिर भी रोज़ छपता है अखबारों में।
जान लेकर रूढ़िवाद ने
लटकाया है पेड़ों में।

भगवान ने तो बांटा नही
तुम अब कोई आग न लगाओ।
दिमाग से भी दिल से भी
जातिवाद का फ़र्क़ मिटाओ।
हम एक है , यह सोचकर।
उम्मीद का दीया जलाओ।
उम्मीद का दीया जलाओ।

©️Nilofar Farooqui Tauseef
FB, ig-writernilofar

क्योंकि हम इंसान हैं

News Updates

क्योंकि हम इंसान हैं

क्योंकि हम इंसान हैं

क्योंकि हम इंसान हैं, हमें बोलना अच्छा लगता है सुनना नहीं। भगवान ने हमें दो कान और मुंह एक दिया है और हमें याद भी नहीं क्योंकि हम इंसान हैं, खुद गलत होकर भी दूसरों को जज करना हमारी आदत है, गलतियां करके सॉरी बोल देना हमारे लिए बहुत आसान है, क्योंकि हम इंसान हैं ।

जबरदस्ती दूसरों पर अपनी मर्जी थोपना उनकी जिंदगी को वश में करना हमें अच्छा लगता है क्योंकि हम इंसान हैं।
क्यों हम कभी किसी को थोड़ा सा प्यार थोड़ी सी इज्जत थोड़ा सी प्रशंसा नहीं दे सकते ?
क्यों हम लोगों की नहीं सुनते क्यों सिर्फ हमारी ही सुनाते रहते हैं? कभी स्वार्थी न बनकर हम सामने वाले को नहीं सुन सकते ? आखिर वह भी तो इंसान हैं!

आज एक वीडियो https://youtu.be/hpWB4A4Pm9I देखकर ऐसा लगा कि सिर्फ एक इंसान को ही नहीं हम सबको किसी के साथ की जरूरत है आज भारत में हर दूसरी मौत का कारण तनाव और अवसाद ही है पर हम उसे नियंत्रित कर सकते हैं उसे कम किया जा सकता है।

सिर्फ थोड़ा सा प्यार और थोड़ा सी प्रशंसा के साथ अपनों को सुनकर तो देखो “please learn to listen or appreciate the people and help them by giving new hope or reason to live their life with smile”

क्योंकि हम इंसान हैं

आज हर कोई परेशान है कि हमारी कोई नहीं सुनता माँ बाप परेशान है कि बच्चे उनकी नहीं सुनते और वही बच्चों को लगता है कि माँ बाप उन्हें नहीं समझते, बॉस को लगता है एंप्लॉय उसको फॉलो नहीं करते तो एंप्लॉय समझते हैं कि बॉस उनकी नहीं सुनते ।

मतलब कहीं अगर सुनने वालों की कमी है तो शायद सुनाना भी लोग पसंद नहीं करते है उन सभी से निवेदन है कि वह लोग अपनों से बात करें और अपने आपको जाहिर करना सीखें क्योंकि कुछ चीजें कोई सिखाता नहीं हमें खुद सीखनी पड़ती हैं क्योंकि हम इंसान है।

अक्षय कुमार जी की वीडियो में मैंने सुना था कि दिल औजार से खोलने से अच्छा है कि अपने दोस्तों के साथ खोल लिया जाए तो प्लीज आज ही अपने दोस्तों से बात करें और जाने की उनकी लाइफ कैसी चल रही है शायद आपके किसी दोस्त को इसकी जरूरत हो और यह ना सिर्फ आपके दोस्त की बल्कि आपको अपने आपको जानने में भी हेल्प करेंगी क्योंकि हम इंसान हैं ।

मुझे उम्मीद है आप लोग कोई अच्छा लगा होगा और आप इसे हर उस इंसान के साथ शेयर जरूर करना चाहेंगे जिसे इस वीडियो की जरूरत है ताकि दोबारा कोई भी अवसाद और नेगेटिविटी की वजह से ख़ुदकुशी जैसा पाप करने के लिए मजबूर ना हो क्योंकि-हम-इंसान है क्योंकि-हम-इंसान है। चलो आज कुछ अच्छा करते हैं हम हमारे अपनों से कुछ दिल की बात करते हैं

©️ रजनी अग्रवाल

 

वो‌ चला‌ गया

एक वादा ऐसा भी

दर्द ऐ मोहब्बत

हम इंसान हैं

News Updates

My Motherland

My Motherland

– The heroic tales start from a precious land,
-That milestone is called my ‘Motherland’.

– The land I live in– the land you all know,
– The land I always prosper in– the land we all wanna go…
– The land of necklace, earrings and beautiful ‘Bindiya’,
– All the folks called them as my ‘Incredible India’…

– The land of Himalayan crowned mountains-

– with one of the attractive Unity Fountains…
– The sound of the land is like a tuned lark,
– My motherland looks like a fairy spark…..

– The land of the bright minds and folks,
– The land of the historical prestige talks…
– The shape of the land is like a lightning star,
– My motherland looks like a bright landmark…

– The land of the bravery and the unsung martyrs,
-The land of the long ridden slavery warriors…
– The fame of the land Is framed in golden words,
– My motherland guides world like a guardian does…

Insta- @kabiryashhh

In the Battlefield

News Updates

सेना का जवान

सेना का जवान

सेना का जवान शहीद हुआ देश ही उसका छिन गया
छिन गया माँ की ममता का आँचल पिता का साया छिन गया
जो वर्दी पहनकर वो इतराता वो काया छिन गया
शहीद हुआ आज एक जवान दुनिया का सितारा छिन गया।।

सरहद पार सिपाही था उसकी शहादत साफ़ थी
नेक दिल व्यक्तित्व था
इबादत उसकी माफ़ थी
उसका व्यक्तित्व ही समाज का आईना था
उसका अस्तित्व ही खुशकिस्मत नगीना था
वो जो शहीद हुआ उसका वापस आना छिन गया
उसके न आने से देश का एक खज़ाना छिन गया।।

©️अंकिता वीरेंद्र नारायण श्रीवास्तव

सेना का जवान

एक फौजी के अल्फाज……

शहीद

ह्रदय की पीड़ा

News Updates

एक फौजी के अल्फाज……

एक फौजी के अल्फाज

एक फौजी के अल्फाज……

के लड़कर आया हूँ निभाया हैं धरती माँ के बेटे का फर्ज,
अब जिस कोख से जन्मा उस माँ के बेटे का फर्ज निभाने दे ना,
भगवान मुझे फिरसे धरती पर जाने दे ना…
मरते दम तक रक्षा की हैं, चुका दिया हैं धरती माँ का कर्ज,
अब मेरी उस माँ का थोड़ा सा दूध का कर्ज निभाने दे ना,
भगवान मुझे फिरसे धरती पर जाने दे ना……..
बहोत साल गुजर गए अपनी प्यारी सी बहन से मिले,
सुनी सी पड़ी इस कलाई में उसके प्यारे से हाथो से राखी बंधवाने दे ना,
भगवान मुझे फिरसे धरती पर जाने दे ना….
मेरी एक साथी भी हैं नीचे, मुझसे दूर रहते हुए भी पत्नी का धर्म निभाया हैं,
बंदूको से तो सारे धर्म निभा लिए ,
अब पति का धर्म निभाने दे ना,
भगवान मुझे फिरसे धरती पर जाने दे ना…..
उसकी कोख मे पल रही एक नन्ही सी कली जिसके आने का कब से इंतज़ार कर रहा था,
उसे मुझे एक बार पापा कहके बुलाने दे ना,
भगवान मुझे फिरसे धरती पर जाने दे ना……
भगवान मुझे फिरसे धरती पर जाने दे ना……..

सन्नी रोहिला

@its_sunnyrohila

एक फौजी के अल्फाज……

शहीद

ह्रदय की पीड़ा

News Updates

In the Battlefield

In the Battlefield

In the Battlefield, Standing Lionhearted, Even if the foe is mercy less.
But their Gallantry remains ready for every mess.
The thought of the families comes later on the battlefield.
Expelling the intruders makes their hearts of steel.
The one who even holds kindness for those who destroy.
The one who serves our motherland before families are Indian sepoys.
Destruction is never their job.
Establishing peace around in every heart whoever sob.
Some have old parents to look for.
Some have little angels, neoteric out in the shore.
But they stand United, yet distant with their families on the border.
Their courage, their zeal for our nation can even shrill down a thunder.
Each one of them can kill a hundred with his fortitude.
Their bravery is void of solitude.
Any pain they can swallow, but a single remark over our nation is illegitimate.
Stating this over the enemies’ faces, they don’t hesitate.
Their strength may be taken by the enemies as totally absurd.
But when they kill hundreds of intruders & martyrs themselves pleasantly of our nation, even foes astonishes & says our words

|| Vande Matram ||

– Anshul Jain –

Martyr

News Updates