Complete Blogger Platform

The Hindi Guruji

Author: teamthehindiguruji Page 2 of 7

सेना का जवान

सेना का जवान

सेना का जवान शहीद हुआ देश ही उसका छिन गया
छिन गया माँ की ममता का आँचल पिता का साया छिन गया
जो वर्दी पहनकर वो इतराता वो काया छिन गया
शहीद हुआ आज एक जवान दुनिया का सितारा छिन गया।।

सरहद पार सिपाही था उसकी शहादत साफ़ थी
नेक दिल व्यक्तित्व था
इबादत उसकी माफ़ थी
उसका व्यक्तित्व ही समाज का आईना था
उसका अस्तित्व ही खुशकिस्मत नगीना था
वो जो शहीद हुआ उसका वापस आना छिन गया
उसके न आने से देश का एक खज़ाना छिन गया।।

©️अंकिता वीरेंद्र नारायण श्रीवास्तव

सेना का जवान

एक फौजी के अल्फाज……

शहीद

ह्रदय की पीड़ा

News Updates

शहीद

शहीद

शहीद,

धरती पीली, अम्बर नीला,
तुझको शीष झुकाऊं माँ।
तेरी ही माटी का मैं गुड्डा,
तुझपे जान लुटाऊं माँ।

जन्म दिया जिस माँ ने,
उसका भी कर्तव्य निभाऊं माँ।
आँख करे जो तिरछी तुझपे,
उसको चीर के आऊँ माँ।

तेरी आन की खातिर मैं,
शहीद भी हो जाऊं माँ।
लिपट कर आऊँ तिरंगा में,
तेरी मिट्टी से लिपट जाऊँ माँ।

गद्दारों को निकाल देश से,
चुनर तेरी धानी कर जाऊँ माँ।
आन , बान, शान है तू मेरी
कैसे तुझे भुलाऊं माँ।

पापी का नाश कर मैं
तेरी गंगा में नहाऊं माँ
बांध चलूं मैं कफ़न सर पे
दुश्मन से टकरा जाऊँ माँ

नमन करूँ शीष झुकाऊं
जान अर्पित कर जाऊँ माँ
तेरी ही माटी का मैं गुड्डा,
तुझपे जान लुटाऊं माँ।

©️Nilofar Farooqui Tauseef
Fb, IG-writernilofar

ह्रदय की पीड़ा

News Updates

ह्रदय की पीड़ा

ह्रदय की पीड़ा

शहीदों के माँ के ह्रदय की पीड़ा गाना चाहती है,
बधिर हैं जो लोग उनको भी सुनाना चाहती है।
राजनीति की दिवारें देश खोखला कर रही,
आज कलम तलवार बन सबको बताना चाहती है।।

गलियों और चौबारों में जिनके आज ताले हैं,
जिन्होनें अपने घरो में देशद्रोहियों को पाले हैं।
आओ आज उसका अंजाम दिखाना चाहती है,
जड़ से मिटा देने का उनको एक बहाना चाहती है।।
आज कलम तलवार बन सबको बताना चाहती है।।

जो जाकर वापस फिर लौट पाया नहीं,
जो पुत्र है माँ भारती का है पराया नहीं।
लाल के कातिल को शूली पर चढ़ाना चाहती है,
हाँ उन्हें जड़ से मिटाने का एक बहाना चाहती है।।
मेरी कलम तलवार बन सबको बताना चाहती है।।
कैसे रोकूं अगर वो चिल्लाना चाहती है,
देशद्रोही को मारने का एक बहाना चाहती है।
मेरी कलम तलवार बन सबको बताना चाहती है।।

शहीदों के माँ के ह्रदय की पीड़ा गाना चाहती है,

✍🏻 sakshee🙂
@_sakku_writes

From Footpath, The Warrior

मुस्कान

News Updates

मुस्कान

मुस्कान

 

मुस्कान मेरे रूह से निकले
मेरे चेहरे के नूर को तके
मुस्कान मेरे दिल से निकले मेरे पहरे के हूर को तके
मुस्कान साफ हो ख़ुदा की इबादत हो
मैं खुश रहूँ या न रहूँ मेरी मुस्करकने की आदत हो
मुस्कान मेरे जिस्म से निकले।।

मुस्कान तकलीफ़ न दे कभी
न किसी की खिदमत हो
मुस्कान तारीफ़ न दे कभी न किसी की रहमत हो
मुस्कुराहट साफ़ हो खुदा की इबादत हो
मैं खुश रहूँ या न रहूँ मेरी मुस्कुराने की आदत हो
मुस्कान मेरे जिस्म से निकले।।

©️Ankita Virendra Narayan Shrivastava IG virendraankita

दर्द ऐ मोहब्बत

News Updates

I Missed You The Other Day

I Missed You The Other Day

I missed you the other day
And our nights have magical aurae

You have changed me inside out
I filled that caliginosity with my lovely shouts

The burning core inside us
Want you to open my petals with good Arquebus

Those sizzling whispers in my ears
Want between us no more barriers

My delicate & wispy poetry is written in the dusky gloom
And the heat between us is sensually brume

I’m the name which is the cause of your smile
I’m the one who set you, soul, on fire like remembering chamomile

Taste of my love is indelible
Like our intimacy which is evangelical

Your hands writing poetry on my soul
And then you pose for my camisole

The ache of my absence is hitting you every day & night to wish for earnestly
And you told me feelings honestly

Whenever you remembered our sensual, delightful & unexplainable moments
I disrobe my raiment

I can sense your aroma
I can fell your breath
I can touch you
Before we whisper Adieu

Prior revoir you pose me towards you and Smack
And then it comes back to back

You lean on me and
our feelings rise and keen on
It’s a release of sensation
And we were drawing in our emotions to and those memories on. ..

@her_scribbled_stories
Amruta_Patil

Rain

News Updates

rain

Rain

Rain

Fresh my body and pain
I love you rain
I want to hold you again
I love you rain
Never leave me again
I miss you rain
Want to bath in depressed pain
I love you rain
You get my brain from tension again and again
I love you again
You helping farmers from summer pain
I love you rain
Give slots of happiness to all
We love you waterfall
Comes from clouds on earth
And giving feel relax to all

Shubham Shrivastava
@shrivastavas2151

WHAT ABOUT YOUR PROMISE?

News Updates

दर्द ऐ मोहब्बत

दर्द ऐ मोहब्बत

दर्द ऐ मोहब्बत

प्रतिबंधित हैं इश्क़ मेरा,
कोई बंधन नहीं अब हमारें दरमियाँ।
नाराज़ हैं वो मुझसें,
के तानें मारतें हैं रहतें।
कहते तुम बदल गए,
और खुद खफ़ा रहतें।
ज्यादा कुछ नहीं,
एक दोस्त की ख़वाईश थीं मेरी, वो भी अब न रहीं।
याद हर रात सता जाती हैं,
सवेरा आईना दिखाती हैं।
कहती हैं ओ पगली,
वो छलीया था तुझे छल गया।
दर्द जिंदगी में भर गया,
वो तो गया अब तु भी आगे बढ़।
इस जिंदगी में सिर्फ तो एक नहीं था,
कई आए कई गए।
फिर वो ही तुझे क्यों इतना याद आए?
पता नहीं क्या रिश्ता हैं उससे?
ना जाने क्या अलौकिक बंधन हैं उससे,
के कुछ न होते हुए भी सबकुछ हैं उससे।
उससे और सिर्फ उसीसे,
उसीका होना चाहें मन पर फिर भी हो ना पाएं हम।
एक जुनून सा सर पे सवार था मेरे,
आज भी हैं और कल भी रहेगा।
कुछ यूँ दूर हुए वो हमसे,
के हमारा सब लें गए वो हमसे।
बस अपना और सिर्फ अपना,
बना गए वो हमको।
कुछ अपना छोड़ गए,
कुछ हमारा लें गए।
न जाने क्या रिश्ता था उनसे,
के अपने न होकर भी सिर्फ़ अपना बना गए वो हमको।
कुछ पता नहीं क्या आलम- ए- जिंदगी होती,
शायद खुश शायद नाखुश।
मगर बेज़ार होती यें जिंदगी,
मगर बेज़ार होती यें जिंदगी।

©️दीपशिखा अग्रवाल!

दर्द ऐ मोहब्बत

वो‌ चला‌ गया

News Updates

वो‌ चला‌ गया

वो‌ चला‌ गया

वो‌ चला‌ गया

वो कहता रहा जिंदगी अनमोल हैं,
अब खुद जिंदगी छोड़ गया हैं।

वो कहता रहा तुम्हें हर हाल में जीना हैं,
अब खुद जिंदगी से नाता तोड़ गया।

वो कहता रहा जिंदगी उमंग हैं,
अब खुद करोड़ों लोगों की उम्मीदें तोड़ गया।

वो कहता रहा जिंदगी आसान नहीं,
अब खुद जिंदगी से इतनी आसानी से हार मान गया।

वो कहता रहा जिंदगी जीऔ,
अब खुद ही जिंदगी जीना भूल गया।

वो कहता रहा हिम्मत मत हारो,
अब खुद ही हिम्मत हार‌ गया।

वो कहता रहा जिंदगी जीना सीखों,
अब खुद ही जिंदगी जीना भूल गया।

वो कहता रहा जिंदगी के उतार चढ़ाव से हार न‌ मानों,
अब खुद ही हार मान गया।

वो कहता रहा खुदकुशी कोई हल नहीं,
अब‌ खुद ही आज‌ अपनी बात भूल गया।

वो सबका‌ चहीता था, जिंदगी जीना जानता था,
मगर‌ आज सबको‌ नाउम्मीद कर‌ हमेशा के लिए वो चला गया।

ओम् शांति!

#सुशांत सिंह राजपूत

एक वादा ऐसा भी

वो‌ चला‌ गया

News Updates

एक वादा ऐसा भी

एक वादा ऐसा भी

एक वादा ऐसा भी

रोना मुनासिब न था,
मातृभूमि का बुलावा आया था।

एक माँ ने अपने बेटे को गले लगाकर,
विजय भव: का आशीर्वाद दिया था।

एक नई शौर्यगाथा लिखने चल पड़ा था वो,
अपनी माँ से मातृभूमि के लिए एक वादा करके जा रहा था जो वो।

कह गया लौटूंगा ज़रूर,
चाहे लौटु जिंदा या लौटु शहीद होकर।

जंग खत्म हुआ और जीत की खबर सुनीं,
मां अपने बेटे का इंतजार कर रहीं थीं।

लौटा बेटा अमर होकर,
आया शहीद तिरंगे में लिपटकर।

मां का सीना गर्व से चोड़ा हुआ,
फिर बेटे के जाने के ग़म से चकनाचूर हुआ।

बेटा तो चला गया,
अब मां भी जीकर क्या करतीं।

उसने भी वहीं अपने प्राण त्याग दिए,
अपने मातृत्व का वादा निभातें हुए वह भी अपने बेटे संग अंतिम यात्रा पर जाने को‌ सज्ज हुई।

रोता‌ रह गया ज़माना,
देखता‌ रह गया ज़माना।

वाह वाही करता रह गया ज़माना,
एक मां और बेटे के वादें पूर्ण होने का दृश्य एकटक देखता रह गया ज़माना।

©️दीपशिखा अग्रवाल!

हम इंसान हैं

गिनती के यार

News Updates

एक वादा ऐसा भी

WHAT ABOUT YOUR PROMISE?

WHAT ABOUT YOUR PROMISE?

What about the promise you-made?
What about the sayings you said?

Were they all meaningless?
Were they all useless?

The promise you made was never to leave me alone,
But the irony was you left me when I needed you the most.

The promise was to make me smile,
But you left me with just buckets of tears.

The promise was to be together forever,
But the agony of love faded and you degraded your promise.

The promise you made me-was pure,
But the moment you left was bizarre.

Enlisted by your soul you made me a promise to be fine,
But you treated me like an old wine.

You weren’t really my cup of tea,
But I made you mine.

The promise was inevitable,
But you were descendible.

The promise was all in vain,
And I was the one with no gains.

What about the promise-you made?
Were they real or just for playing with my emotions do tell?

I trusted you a lot,
And you broke me a lot.

All promises vanished,
And all reality gained its existence.

Did you ever make the promise with the truth?
Or was that all just a part of your mastermind plan?

The plan was successful and I was pitiful,
Your promise made its way to ending and my life made the way toward its decreasing.

©️DEEPSHIKHA AGARWAL!

 

RAIN FULL OF LOVE

DESTINED TO WRITE OUT MY HEART

News Updates

Page 2 of 7

Powered by Create a website or blog at WordPress.com