Dear Mummy

Dear Mummy

You are mentor
You are my guarantor
Oh my madre
You are my forefather

Your love is like a mystical moon
And I feel safe like it’s your womb
You turn my worst into best
And with this blessing I’ll live life with happiest rest

You whirl my wry smile
Into a camouflaged chamomile 
Sometime I reflect each others obliquely
But in next moment your words comes to me sleekly 

I know things needs to be change
Lot of ideas around us with disdain
Till time I will stand by my own
Because I am part of your flesh & bone

Deep within my soul
Your thoughts will always blown
One day I’ll call you upon
To let go my inner aune

Oh my dear Mummy
If I could twirl the time
I’ll be with you till existence of Sunshine
And we’ll be blessed with spirits divine.

@her_scribbled_stories
Amruta_Patil

Also Read>> Thee Amor Me By Amruta_Patil

माँ

माँ

मंज़िल ए जुस्तजू में भटकता रहा,
मंजिल तो यहां थी।
आज फिर अकेला था,
मां तुम कहां थीं।।
मेरे दुखों का सबेरा तुम,
मेरे तबस्सुम का बसेरा तुम,
अगर गिरा मैं तर्स से तो मेरे नदीम तुम,
मेरी फ़क्र में करीम तुम,
मेरी फ़िक्र में रहीम तुम,
फ़ज़ल हो तुम,
मुझमें सजल हो तुम,
तुम्हारे बिन सारी उम्मीद तजां थीं।
आज फिर अकेला था,
मां तुम कहां थीं।।

By: Yogesh sharma
 

माँ

Mother

अरसा हो गया उसके हाथ से निवाला खाये हुए
अगर यही जवानी है तो कुर्बान ऐसी जवानी
उस ममता के लिए।
वर्षों हो गए उसकी गोद में सोए हुए
अगर यही जवानी है तो कुर्बान सही जवानी
उस ममता के लिए
काश लौटा दे कोई वो बचपन और माँ का ढेर सारा प्यार ,
ऐसी सैकड़ों जवानी कुर्बान
उस ममता के लिए।
©sapan agrawal

Also Read More…